News

महाकालेश्वर मंदिर में चढ़ी ध्वजा

उदयपुर। यहां रानी रोड़ स्थित श्री महाकालेश्वर मंदिर में स्वर्ण कलश एवं ध्वजादंड स्थापना का आठवां पाटोत्सव आज मंगलवार 7 मई 2019 को विविध पारंपरिक धार्मिक अनुष्ठान के साथ मनाया गया। इसके तहत ध्वजारोहण, सहस्त्रधारा अभिषेक, गंगा महाआरती एवं विशेष शिव पूजा अनुष्ठान हवन हुए।
सार्वजनिक प्रन्यास मंदिर श्री महाकालेश्वर के अध्यक्ष तेजसिंह सरूपरिया ने बताया कि प्रातः निज मन्दिर में पूजा अर्चना के बाद 10 बजे अभिषेकात्मक लघु रूद्र पाठ हुआ। इसके पश्चात् 10.15 बजे हवन शुरू हुआ। जिसमें ध्वजपताकाओं को हवन अग्नि के सम्मुख रखकर विधिवत् रूप से पूजा अर्चना की गई। बडी संख्या में महिला एवं पुरूष एवं शिवभक्तगणों ने आखातीज पर हुए इस पुण्य हवन का लाभ उठाया। न्यास सचिव चन्द्रशेखर दाधीच ने बताया कि हवन की पूर्णाहूति के बाद महाकालेश्वर मंदिर शिखर पर ध्वजरोहण किया गया। इसके पूर्व ध्वजा की मंदिर परिसर में परिक्रमा कर भगवान भोलेनाथ की आरती की गई तत्पश्चात् ध्वजा मंदिर शिखर पर फहराई गई।
साथ ही सांय 6.30 बजे हरिओम महिला सत्संग मण्डल एवं न्यास द्वारा गंगा आरती की गई जिसमें महिलाओं और पुरूषों ने भाग लिया। गोपाल लोहार ने बताया कि अक्षय तृतीया एवं परशुराम जन्म जयंती के अवसर पर मंदिर परिसर में भगवान परशुराम की पूजा अर्चना कर 108 दीपकों से आरती की गई। जिसे पंडित गौतम चैबीसा, हरीश शर्मा, महेश एन. दवे, ने पूजा एवं हवन कराया। कार्यक्रम में विनोद शर्मा, महिपाल शर्मा, दीक्षा भार्गव, रवि शंकर नन्दवाना, प्रेमलता लोहार, आभा आमेटा, हर्षिता लौहार, सुरेन्द्र मेहता, पन्नालाल कटारिया, भंवरलाल बाबेल, सुन्दरलाल माण्डावत, योगेश गिरी गौस्वामी आदि मौजूद थे।
शिव भक्तों ने किया गौ-सेवा संकल्प
पडित महेश एन दवे ने अक्षय तृतीया के पर्व पर मंदिर परिसर में स्थित रामेश्वर गौशाला में गौ सेवा संकल्प करा गौ-सेवा मनोरथ कराया जिसमें गौ-माता व बछडे़ को गले घण्टी, स्वर्ण के बने सींग, पीठ, चार खुर, पूछ से श्रृंगाकर साडी एवं बछडे को पोशाक धरा उनकी पूजा अर्चना की गई। पूजा अर्चना के बाद सामुहिक रूप से सभी भक्तों ने गौसेवा का संकल्प लिया।
परशुराम जयंति पर आमेटा समाज महिला मण्डल द्वारा महाकालेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना कर भगवान श्री परशुराम जी पीले चावल रखकर सामुहिक विवाह में पधारने का न्योता दिया। इस अवसर पर भगवान श्री महाकोलश्वर को भी निमंत्रण दिया गया। इस अवसर पर समाज की समस्त महिला कार्यकारिणी उपस्थित थी। जिन्होंने सभा मण्डल में भजन कीर्तिन किया।

× How can I help you?