Latest News

सर्वसमाजों की बैठक में शाही सवारी को भव्य रूप से नगर भ्रमण कराने का संकल्प

उदयपुर। श्री महाकालेश्वर श्रावण महोत्सव समिति की बैठक: दिनंाक 4 अगस्त 2019को निकले वाले भगवान श्री महाकालेश्वर की शाही सवारी को लेकर मंदिर प्रंागण में बैठक मुख्य सरक्षक बालु ंिसह कानावत की अध्यक्षता में हुई। जिसमें सर्वधर्म समाज के गणमान्य, विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों एवं शिवभक्तों ने अपनी उपस्थिति दी। बैठक में श्रावण महोत्सव समिति के मुख्य संयोजक रमाकान्त अजारिया एवं सुनील भट्ट, सुन्दरलाल माण्डावत ने शाही सवारी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि शाही सवारी दिनांक 12.08.2019 सोमवार को अभिजित मुर्हूत में महाकाल मंदिर प्रांगण से निकलेगी। इस शाही सवारी को भव्यता प्रदान करने एवं मेवाडधरा की लोककला, धार्मिक एवं सांस्कृतिक परम्परा का अनुसरण करते हुए भव्य रूप से निकलने वाली इस सवारी को किस तरह सुव्यवस्थित एवं मेवाड़ी शैली में निकाले इस पर उपस्थित सर्वधर्म बंधुओं ने अपने अपने विचार रखने का आग्रह किया।
इस वर्ष की शाही सवारी में बाबा महाकाल धर्म,कला एवं पारम्परिक लोक संस्कृति का समावेश किया गया जिसके अन्तर्गत निकाली जाएगी। इसकी विशिष्टता के अन्तर्गत बाबा महाकाल इस वर्ष विशालकाय नन्दी पर आरूढ़ होकर भक्तों को देंगे दर्शन।

बडी संख्या में वनांचल के वनवासी:

पहली बार मेवाड़ क्षेत्र के वनवासी अंचल से आदिवासी समुदाय बड़ी संख्या में अपनी परम्परागत पौशाक पहनकर भगवान शिव की बारात के रूप में गवरी नृत्य करते हुए शाही सवारी में चलेगे। वनवासी समाज के अध्यक्ष अमृतलाल भगोरा ने बताया कि बडी संख्या में वनवासी अपने परम्परागत रूप से शाही सवारी मे सम्मिलित होकर महाकाल की सेवा में उपस्थित रहेंगे साथ पूरी यात्रा में परम्परागत मेवाड का लोक नृत्य, भजन, लोक वाद्य बजाते हुए चलेंगे। 
विभिन्न पताकों के साथ होंगे शिव भक्त: 
शाही सवारी में नन्दी, ओम, शिव की विभिन्न पताओं को साथ में लेकर चलेंगे शिव भक्त।
अमरनाथ सेवा समिति की और से दिल्ली से आएंगे शिव कलाकार
अमरनाथ सेवा समिति के मूलचन्द वलेचा ने बताया कि भगवान शिव की बारात में दिल्ली से शिव कलाकार आएंगे जो शाही सवारी में शिव, पार्वती, कार्तिक, गणेश व शिवगणों का रूप धारण कर शाही सवारी में शिव नृत्यनाटिका, शिव से संबंधित विभिन्न् भजनों पर प्रस्तुतियां देंगे व शिव से जुड़ी भावभंगिणी पौराणिक कथाओं को प्रस्तुत करते चलेंगे।
गौ-मूत्र का छिड़काव एवं वायुशुद्धि के लिए होगें गूगलधूप के साथ जलेगी मशालें
प्रन्यास सचिव एडवोकेट चन्द्रशेखर दाधिच ने बताया की शाही सवारी के मार्ग में पवित्रता बनाए रखनें के लिए सवारी के आगे गौ-मूत्र का रास्ते पर छिडकाव श्रीमाली समाज के द्वारा किया जाएगा। किया जाएगा साथ ऐसी मशाले जलेंगी जिनमें गूगल, धम, अगरबत्ती, लोबन का मिश्रण होगा। जिसकी पवित्र सुंगन्ध रास्ते भर पवित्र वातावरण बनाते हुए चलेगी। 

शिव विग्रह पर होगी रास्ते पर पुष्प वर्षा:

शाही सवारी में शिव विग्रह पर रास्ते भर गुलाब, विभिन्न प्रकार के पुष्पों की वर्षा विभिन्न समाज, व संगठनों द्वारा की गई है तथा प्रन्यास द्वारा भी रास्ते भर पुष्प वर्षा की जाएगी।
मुस्लिम समुदाय का सहयोग: मुस्लिम समुदाय ने अपनी पूर्ण भागीदारी निभाने के साथ की बैठक में आए इकबाल खां ने घोषणा की समुदाय की ओर से महाकालेश्वर की शाही सवारी में 11 घोड़े चलेंगे। मुस्मिल समाज के श्री अरशद ने बताया कि समाजजनों द्वारा पलटन मस्जिद के बाहर शाही सवारी का भव्य स्वागत किया जाएगा। 
सुन्दरलाल माण्डावत की ओर से 11 गाडियों प्रस्तुत की जाएगी जिसमें शिव की विभिन्न पालकियां रास्ते भर चलेगी। महेश जोशी की ओर से अति विशिष्ट चार गोल्फ कारें शाही सवारी में चलने की घोषणा की।
सिख समाज से आयी दीक्षा भार्गव ने बताया कि शाही सवारी में सिख समाज अपनी पूरी भागीदारी निभायेगा।
प्रन्यास अध्यक्ष तेजसिंह सरूपरिया ने सर्वसमाज बैठक में मंदिर के विकास के लिए 1 लाख सदस्य बनाने की अपील की जिसे सभी समाज, समुदाय एवं धार्मिक संगठनों में एकमत होकर मंदिर विकास के लिए अपने अपने समाजों से बडी संख्या में सदस्यों को बनाने का आश्वासन दिया तथा विभिन्न समाज के संगठनों ने बैठक में आर्थिक घोषणा की।
महोत्सव समिति के अध्यक्ष सुनील भट्ट ने शाही सवारी के मार्ग पर शिव पताका, मार्ग में सवारी चित्ताकर्षक झांकी की विशेष सुरक्षा व्यवस्था तथा मार्ग पर पुष्पवर्षा हेतु विशेष व्यवस्था करने की जिम्मेदारी ली। सभी समाजों ने संकल्प लिया कि ठाट बाट व भव्य रूप से महाकाल की शाही सवारी को नगर भ्रमण पूर्ण सहयेाग प्रदान करते हुए आपसी भाई चारे व सद्भावना पूर्वक यात्रा निकाली जाएगी।
शिला स्थापना के कार्यक्रम 8 अगस्त को महाकाल मंदिर में विधि विधान से होंगे।
बैठक को श्रावण महोत्सव समिति के तेजंिसह बांसी, मनोहरसिंह कृष्णावत, प्रेमसिंह शक्तावत, दीक्षा भार्गव, के.के.शर्मा, विनोद कुमार शर्मा, महिपाल शर्मा, गोपाल लोहार, नागेन्द्र शर्मा, पुरूषोत्तम जीनगर, अर्चना शर्मा, योगेश गिरी गोस्वामी, ओम सोनी,कमल प्रकाश बाबेल हरीश शर्मा, लोकेश मेहता, शेषमल सोनी, जितेन्द्र जैन, चन्द्रर सिंह राठौड़ एवं विभिन्न समाज जिनमें श्रीमाली, मेनारिया, नागदा, सुखवाल, गुजराती समाज, भोई समाज, गुर्जर गोड़ समाज, मालवीय लोहार समाज, सिख समाज, राजपूत समाज, मुस्लिम समाज, सोनी समाज, आदि के प्रतिनिधियों ने अपने अपने विचार रखें। तथा सभी समाजों के प्रतिनिधियों ने एक जुट होकर कहा की शाही सवारी की पवित्रता बनाए रखने के लिए रास्ते भर में हर जगह स्वच्छता को ध्यान रखेंगे तथा अल्पहार दौरान जो भी डिस्पोजल सामग्री है वह सुव्यवस्थित कचरा पात्र में डालेंगे।
श्रावण मास पर्यन्त सावन के तृतीय सोमवार के मौके पर हजारों श्रद्धालुओं की उपस्थिति में सार्वजनिक प्रन्यास मंदिर श्री महाकालेश्वर की अगुवाई विविध धार्मिक एवं पारम्परिक अनुष्ठान आयोजित होंगे। श्रावण महोत्सव समिति अनुसार इस मौके पर भगवान भोलेनाथ का प्रातः 10ः30 बजे लघुरूद्र पाठ के सहस्त्रधारा अभिषेक किया जाएगा। बाद में महाकालेश्वर पर भव्य श्रृंगार धराकर आरती उतारी जाएगी। अभिजित मुर्हुत में शाही लवाजमे के साथ रजत पालकी में भगवान श्री महाकालेश्वर महाकाल की सवारी ओगडी माई जी की परिक्रमा के साथ मंदिर परिसर में निकाली जाएगी। तत्पश्चात् महाआरती की जाएगी।

वास्ते
चन्द्रशेखर दाधीच
सार्वजनिक प्रन्यास मंदिर श्री महाकालेश्वर, उदयपुर
9414343556, 9983980060

× How can I help you?